Uncategorized

योगी राज में मुस्लिम युवक को भारी पड़ गया सुमित्रा को रुकसाना बनाना, पुलिस ने किया ऐसा सलूक

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर योगी आदित्यनाथ की सरकार बन चुकी है। बीजेपी की सरकार ने पिछले कार्यकाल में कई मुद्दों पर गंभीरता दिखाई थी। इनमें सबसे बड़ा मुद्दा लव जेहाद का भी था। अपना मजहब छिपाकर दूसरे धर्म की लड़की को प्रेमजाल में फंसाने से लेकर जबरन धर्म परिवर्तन पर सरकार ने सख्ती की थी।

यूपी में योगी सरकार ने इस संबंध में बाकायदा कानून भी पारित किया हुआ है। इस बार भी योगी सरकार लव जेहाद से जुड़े मामलों पर सख्ती दिखाने में कसर नहीं छोड़ रही है। इसी वजह से योगी के राज में मुस्लिम युवक को सुमित्रा नाम की महिला को रुकसाना बनाना भारी पड़ गया। जानें पुलिस को हुई खबर तो क्या हुआ।

यूपी के फतेहपुर से आया मामला
लव जेहाद और जबरन धर्म परिवर्तन से जुड़ा मामला यूपी के फतेहपुर जिले से सामने आया है। यहां एक मुस्लिम युवक को हिन्दू महिला का जबरन धर्म परिवर्तन करवाना भारी पड़ गया। उसने पहले महिला को अपने प्रेमजाल में फंसाया। इसके बाद उसको मस्जिद ले जाकर उसका जबरन धर्म बदलवा दिया।

हसन मोहम्मद उर्फ मोनू खान नाम का ये युवक महिला के ही पड़ोस में रहता था। सुमित्रा नाम की महिला ललौली कस्बे में रहती थी। युवक भी इसी कस्बे का निवासी था। सुमित्रा की शादी हो चुकी है। इसके बाद भी हसन ने उसको अपने प्रेमजाल में फंसा लिया। इसके बाद उसने महिला का धर्म परिवर्तन करवा दिया।

गाजियाबाद की मस्जिद में ले गया
इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब महिला का पति सामने आया। ललौली कस्बे में रहने वाले शिवकुमार प्रजापति अपनी पत्नी सुमित्रा के साथ रहते थे। इसी कस्बे में हसन नाम का युवक भी रहता था। हसन की नजर शिवकुमार की पत्नी पर थी। उसने बड़ी चालाकी से सुमित्रा को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया।

शिवकुमार के मुताबिक प्रेमजाल में फंसाने के बाद वो उनकी पत्नी को गाजियाबाद लेकर चला गया। यहां पर उसने मौलाना से साठगांठ कर हिन्दू महिला का धर्म बदलने की साजिश रची। उसने सुमित्रा को रुकसाना बना दिया। इसके बाद उसके साथ उसी मस्जिद में इस्लामी रीति रिवाज से निकाह भी कर लिया।

आरोपी को भेजा जेल, अन्य की तलाश जारी
शिवकुमार प्रजापति ने इस मामले की शिकायत पुलिस से कर दी। पुलिस ने जब छानबीन की तो मामला सही निकला। पुलिस ने आरोपी को पकड़ा तो उसके पास से निकाहनामा मिला। इसमें 5786 रुपये मेहर की रकम लिखी हुई थी और दो गवाहों का जिक्र भी थी। निकाहनामे में ही सुमित्रा का नाम रुकसाना परवीन लिखा हुआ था।

इस मामले में एडिशनल एसपी राजेश कुमार ने बताया कि जबरन धर्मांतरण के मामले में हसन को जेल भेज दिया गया है। इससे पहले पुलिस ने महिला का बयान भी दर्ज किया। वहीं पुलिस अब गाजियाबाद में मौलाना और अन्य लोगों को भी तलाश रही है, जो धर्म परिवर्तन में हसन का साथ दे रहे थे। वहीं हसन को भी रिमांड पर लिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button